/करेले के फायदे । BENEFITS OF BITTER GOURD IN HINDI

करेले के फायदे । BENEFITS OF BITTER GOURD IN HINDI

 

Benefits Of Bitter Gourd In Hindi
Benefits Of Bitter Gourd

करेले के फ़ायदे और नुक़सान । BENEFITS OF BITTER GOURD AND SIDE EFFECTS IN HINDI

मोसम की सब्जियों को अपनें खानें में उपयोग करना चाहिए क्योंकि यह गुणों से भरपूर होती है और बहुत अच्छी पोषक आहार होती है।

करेले को ही लीजिए गुणकारी और पोषक आहार है। करेला हरे रंग की कांटेदार सब्जी है जो खानें में कड़वी लगती है । होमियोपैथिक औषधि भी करेले से बनायी जाती है।

हरा करेला ज़्यादा फायदेमंद होता है और औषधीय के रूप में काम आता है और पका हुआ सफेद पीले रंग का करेला कम गुणकारी होता है।

करेले को अगर सुखाकर रखे और फिर उपयोग करें तो इसके गुण नष्ट नहीं होते ।

Akhrot Khane Ke Fayde इसको भी पढ़िए

करेला क्या है । WHAT IS BITTER GOURD IN HINDI

असल में करेला एक सब्जी है जो ककड़ी की तरह हरे रंग की दिखती है।  खानें में इसका स्वाद कड़वा होता है और इसका कड़वा पन ही सबसे बड़ा गुण है।

करेले की तासीर गर्म और खुश्क होती है। करेले का कड़वा होना ही स्वास्थ्य के लिये बहुत लाभकारी होता है ।

स्वास्थ्य के लिए कड़वे रस की आवश्यकता होती है जो करेला पूर्ति कर देता है। करेले के कड़वेपन को दूर करने से इसके गुण भी कम हो जाते हैं।

करेला दो प्रकार का होता है छोटा करेला और बड़ा करेला। छोटा करेला ज्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि यह हरा और कच्चा होता है।

करेले की सब्ज़ी नियमित रूप से उपयोग करनें से शरीर को आवश्यक पोषक तत्व मिलते हैं जो हमारे शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में बहुत मदद करते हैं।

इस लेख में हम आपको करेले के फ़ायदे , उपयोग और नुक़सान के बारे में बताएंगे तो आईए सबसे पहले हम करेले के फ़ायदे क्या हैं इसको जानते हैं।

Benefits Of Anar इसको भी पढ़िए

करेला खानें के फ़ायदे । BITTER GOURD BENEFITS IN HINDI

1. पीलिया में लाभ

पीलिया रोग से छुटकारा पाने के लिए रोगी को नियमित करेले की सब्ज़ी बनाकर खिलाये बहुत जल्दी आराम मिलता है।

तीन करेलो को पानी मिलाकर पीस लीजिए फिर बराबर मात्रा में पानी में घोलकर छान लीजिए ।

इसको सुबह शाम खाली पेट रोगी को नियमित पिलाएं इससे दस्त होने लगेंगे और बहुत जल्दी पीलिया ठीक हो जाएगा।

करेले का रस भी पीलिया रोग में फायदा पहुंचाता है ।

How To Remove Pimples In Hindi इसको भी पढ़िए

2. लीवर में लाभ

आगर बच्चों का लीवर Problem हो तो रोज़ाना आधा चम्मच करेले का रस पिलाने से लीवर ठीक हो जाता है और पेट साफ़ हो जाता है ।

करेले के रस में बराबर मात्रा में पानी मिलाकर इसमें सेंधा नमक मिलाकर कुछ दिन सुबह पीनें से लीवर ठीक हो जाता है। करेले की सब्ज़ी भी फायदेमंद होती है।

आधा चम्मच करेले के रस में आधा कप पानी और दो चम्मच शहद मिलाकर सुबह-शाम पीने से लीवर रोग में लाभ मिलता है।

Pathri Ka ilaj इसको भी पढ़िए

3. पथरी में लाभ

पथरी के दर्द से छुटकारा पाने के लिए करेला खाना बहुत फायदेमंद होता है इससे दर्द भी कम होता है और पथरी भी निकल जाती है।

दो करेलो का रस निकाले अब इसको एक कप छाछ में मिलाकर रोज़ाना सुबह-शाम सेवन करें जब तक पथरी निकल नही जाती ।

असल में करेले में मैग्नीशियम और फास्फोरस होता है जो पथरी को तोड़ देता है और पेशाब के रास्ते से बाहर निकाल देता है।

करेलै की सब्ज़ी खाएं और करेले का रस नियमित सेवन करे बहुत जल्दी पथरी में लाभ मिलेगा ।

Benefits Of Bitter Gourd In Hindi
Karela For Khujli

4. खुजली से छुटकारा

त्वचा रोग या ख़ून में अमलता बढ़ जाने से शरीर में खुजली होने लगती है पर इससे घबराने की जरूरत नही करेला खाने के फायदे इसका अच्छा उपचार है।

एक चोथाई कप में करेले का रस निकाले और समान मात्रा में पानी मिलाकर रोगी को नियमित सुबह-शाम पिलाएं ।

करेले के रस में तीन चम्मच सरसों का तेल और पांच बूंदें लहसुन के रस की मिलाकर शरीर पर खुजली की जगा पर मालिश करें।

खुजली जल्दी ठीक हो जाएगी और आराम मिलेगा । करेले की सब्ज़ी नियमित सेवन करने से भी त्वचा रोग में लाभ मिलता है।

Bottle Gourd Benefits In Hindi इसको भी पढ़िए

5. गठिया में लाभ

गठिया रोग में करेले की सब्ज़ी नियमित सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है ।

करेले के रस को थोड़ा गर्म करके गठिया की जगा नियमित लगाएं या करेले के पत्तों का रस निकालकर कर गठिया पर मालिश करे बहुत लाभ मिलता है।

करेला उबालकर इसका भुर्ता बना कर गर्म-गर्म सुबह-शाम खाये स्वाद बढ़ाने के लिए मसाला डाल सकते हैं । 

करेला जोड़ों का दर्द और गठिया रोग को दूर करके आराम देता है ।

6. रक्त साफ करता है

करेले के फ़ायदे बहुत अच्छा रक्तशोधक हैं। करेले के रस में पानी मिलाकर नियमित सेवन करने से कुछ दिनों में रक्त साफ हो जाता है।और लीवर भी मज़बूत होता है।

लगभग दस करेले के पत्तों को छोटे पीस करके एक ग्लास पानी में उबालें जब पानी आधा रह जाए तो इसको छानकर सेवन करें।

इसको नियमित सेवन करने से शरीर का रक्त साफ होता है और मां का दूध बढ़ जाता है। 

Benefits Of Bitter Gourd In Hindi
Karela For Kabz

7. कब्ज़ दूर करता है।

करेला खाने के फ़ायदे से कब्ज़ की समस्या का समाधान हो सकता है। क्योंकि करेला गैस की समस्या दूर करता है और पाचन शक्ति को सही करता है।

करेले के मूल अरिष्ट की लगभग 8 बूंदें चार चम्मच पानी में मिलाकर दिन में तीन बार रोगी को पिलाने से कब्ज़ की समस्या दूर होती है।

करेले की सब्ज़ी नियमित सेवन करने से भी कब्ज़ की समस्या का समाधान हो जाता है।

8. सूजन दूर करे

सूजन दूर करने के लिए करेले का रस या करेले की चटनी का उपयोग करना बहुत लाभकारी होता है।

आधा कप करेले का रस निकालें फिर इसमें थोड़ा पानी मिलाएं और 1/4 चम्मच सेंधा नमक मिलाकर रोगी को सुबह-शाम पिलाएं इससे सूजन दूर हो जाती है।

करेले को पानी के साथ पीसकर चटनी बनाएं फिर इसको सूजन की जगा लगाएं और तीन घंटे बाद साफ कर लें। इससे सूजन ठीक हो जाती है।

Guava Fruit Benefits In Hindi इसको भी पढ़िए

9. खसरा में लाभ 

खसरा या चेचक हो रहा हो तो करेले को उबालकर खाना चाहिए और इसका पानी पीना चाहिए इससे बहुत जल्दी खसरा या चेचक ठीक हो जाती है।

बच्चों को करेला खिलाना चाहिए इससे खसरा और चेचक से बचाव होता है। करेला खसरा और चेचक के लिए टीके का काम करता है।

बच्चों को करेला उबालकर खिलाएं या तल कर स्वादिष्ट बनाकर खिलाएं लाभ मिलता है।

10. मासिक धर्म में लाभ

अगर किसी महिला को मासिक धर्म रुक कर आता हो या कई दिनों बाद आता हो या आना बंद हो गया हो तो Karela Juice Benefits इसका बहुत अच्छा उपचार है।

आधा कप में करेले का रस निकालें फिर इसमें 1/4 कप पानी मिलाकर रोज़ाना सुबह-शाम सेवन करने से मासिक धर्म समय पर आसानी से होने लगता है।

करेले की सब्ज़ी नियमित सेवन करने से या करेले के रस में आधा पानी मिलाकर से मासिक धर्म की अनियमितता और दर्द में बहुत आराम मिलता है।

11. बवासीर में लाभ

बवासीर में मल के साथ रक्त आ रहा हो ओर मस्से बाहर निकल आ जाते हो तो इसके लिए करेले का उपयोग फायदेमंद है।

शौच जाने के बाद करेले के रस को अपने मस्सों पर लगाइए इससे मस्सों की सूजन और दर्द में आराम मिलता है।

आधा कप करेले के रस में शक्कर मिलाकर रोज़ाना सुबह-शाम सेवन करने से बवासीर में रक्त का आना बंद हो जाता है।

मस्से अंदर चले जाते हैं और रक्त का निकलना भी बंद हो जाता है।

12. खांसी में लाभ

खांसी से छुटकारा पाने के लिए करेले का भुर्ता बना कर उपयोग करने से बहुत लाभ होता है।

करेले का भुर्ता को बिना घी लगी हुई रोटी के साथ सुबह-शाम सेवन करने से खांसी और गले में खराश दूर होती है।

करेले के भुर्ते में सेंधा नमक और कालीमिर्च मिलाकर उपयोग करने से जल्दी लाभ मिलता है ।

13. मुंह के छालो में आराम

आमतौर पर पेट की खराबी के कारण मुंह में छाले होने लगते हैं जिससे खाना पीना मुश्किल हो जाता है इसके लिए करेले का उपयोग करना चाहिए।

एक ग्लास पानी में आधा कप करेले का रस मिलाकर इसमें थोड़ी सी फिटकरी डालकर सुबह-शाम कुल्ला करें।

करेले के रस में थोड़ी सी शक्कर मिलाकर दिन में चार बार उपयोग करे लाभ मिलेगा।

इससे मुंह के छालों का दर्द दूर हो जाता है और कुछ दिन में ही छाले ठीक हो जाते हैं।

14. मोटापा कम करता है

मोटापा कम करने के लिये सीज़न में ताज़ा करेले की सब्ज़ी बनाकर नियमित सेवन करे यह मोटापा कम करने में मदद करता है।

करेले का आधा कप रस आधा कप पानी में मिलाकर उसमें एक निंबू का रस मिलाएं और रोज़ाना सुबह खाली सेवन करें इससे मोटापा कम होता है।

15. मधूमेह में लाभ

करेला खाने के फायदे से मधूमेह रोग से छुटकारा पाया जा सकता है।

इसके लिए सौ ग्राम पानी में दस ग्राम करेले का रस मिलाकर दिन में तीन बार दो माह तक रोगी को पिलाएं और खानें में करेले की सब्ज़ी बिना छिलका उतारे खालाये लाभ मिलेगा।

आधा कप करेले के रस में 1/4 पानी मिलाएं , आधा नींबू का रस और आधा चम्मच राई मिलाकर सुबह-शाम रोज़ाना रोगी को पिलाएं बहुत लाभ होता है ।

Benefits Of Bitter Gourd In Hindi
Karele Ke Fayde

करेले का उपयोग कैसे करें । HOW TO USE BITTER GOURD IN HINDI

करेले को हम कई तरह से उपयोग करके इसके फायदे हासिल कर सकते हैं आइए जानते हैं

• करेला सब्ज़ी बनाकर उपयोग किया जाता है।

• करेले का रस बनाकर उपयोग कर सकते हैं।

• करेले का अचार बनाकर हम उपयोग कर सकते हैं।

• करेले को उबालकर उपयोग किया जा सकता है।

• करेले को भुर्ता बनाकर उपयोग किया जाता है।

• करेले के रस को बालों में लगाकर उपयोग किया जा सकता है।

करेले के नुक़सान । SIDE EFFECTS OF BITTER GOURD IN HINDI

करेले के फ़ायदे और नुक़सान दोनों होते हैं। अगर सही तरीके से और सही समय पर करेले का उपयोग करें तो इसके फ़ायदे मिलते वरना नुक़सान भी होते हैं।

• करेले का ज्यादा उपयोग करने से गले और सीने में जलन हो सकती है।

• करेले के सेवन करने से प्यास बहुत लगने लगती है।

• गर्भवती और दूध पिलाने वाली महिलाओं को करेले का ज्यादा उपयोग कम करना चाहिए इससे नुक़सान हो सकता है।

• करेले की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका ज्यादा सेवन करने से पेट का हाजमा ख़राब हो सकता है।

 करेले के पोषक तत्व । NUTRITIONAL VALUE OF BITTER GOURD IN HINDI

      • कैलोरी            25

      • प्रोटीन            1.8 मि ग्राम

      • लोहा              1.8 मि ग्राम

      • कैल्शियम        20 मि ग्राम

      • विटामिन ए     126 मि ग्राम

      • विटामिन सी    8.7 मि ग्राम

      • थायोमिन        0.06 मि ग्राम

      • रिबोफ्लेविन    0.08 मि ग्राम

      • नियासीन       0.6 मि ग्राम

      • मैग्नीशियम    17 मि ग्राम

      • फास्फोरस     30 मि ग्राम

      • पोटेशियम।    290 मि ग्राम

      • सोडियम       5 मि ग्राम

      • ज़िंक            0.8 मि ग्राम

      • कार्बोहाइड्रेट  3.5 ग्राम

      • पानी            94 ग्राम

      • कापर           0.035 मि ग्राम

      • मैगज़ीन        0.090 मि ग्राम

      • सेलेनियम     0.2 माइक्रोग्राम