/हैरान कर दें आलू के फायदे । BENEFITS OF A POTATO IN HINDI

हैरान कर दें आलू के फायदे । BENEFITS OF A POTATO IN HINDI

आलू के फायदे , उपयोग और नुकसान ।‌ BENEFITS OF A POTATO , USES & SIDE EFFECTS IN HINDI

आलू एक मशहूर सब्जियों में से एक है। अकसर लोग आलू का अपने भोजन में उपयोग करते हैं और इसके फायदे भी हासिल करते हैं।

पर लोग ये नही जानते की आलू हमारे सेहत के लिए कितना फायदेमंद होता है और आलू को हम खाना बनाने के अलावा कहां उपयोग कर सकते हैं।

इस लेख में हम आपको आलू के बारे में विस्तार से बताते हैं लेख को आगे पढ़ते रहिए। हम आपको बाताएगे आलू क्या है इसका हम किस तरह से उपयोग कर सकते हैं और आलू खाने के फ़ायदे क्या है।

सबसे पहले हम आपको बताते हैं कि आलू क्या है और आलू के उपयोग क्या है ?

विषय सूची। TABLE OF CONTENTS

• आलू क्या है । What Is Potato In Hindi
• आलू के प्रकार । Types Of Potato In Hindi
• आलू के उपयोग । Uses Of Potato In Hindi
• आलू के फ़ायदे । Benefits Of Potato In Hindi
• आलू के नुक़सान । Side Effects Of Potato In Hindi

आलू क्या है ? WHAT IS POTATO IN HINDI

आलू एक साधारण सा दिखने वाला गोल और थोड़ा कठोर होता है जो जमीन के अंदर लगाया जाता है।

इसकी तासीर गर्म और शुष्क होती है। यह बात भी सच है की आलू एक संपूर्ण आहार हैक्योंकि इसमें कैल्शियम , विटामिन और आयरन की मात्रा भरपूर पाई जाती है।

आलू पोष्टिक आहार होने के साथ-साथ सोंदरय प्रसाधन के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।यह बच्चों के लिए बहुत कारगर आहार है।

आलू के प्रकार । TYPES OF POTATO IN HINDI

अलू के बारे में आपने पढ़ा कि आलू क्या है अब हम आपको बताते हैं की आलू कितने तरह के होते हैं।

1. लाल आलू

लाल प्रकार का आलू खानें में बहुत स्वादिष्ट होता है आमतौर पर इसको सूट बनानें में और सलाद बनाकर खाने में उपयोग किया जाता है।

2. सफ़ेद आलू

यह आलू दिखने में बहुत सुंदर और सफ़ेद होता है और खानें में इसका स्वाद अच्छा लगता है इसको उबालकर खाया जाता है।

3. पीला आलू

यह आलू दिखने में हलका पीला होता है यह आमतौर पर नानवेज खाने में ज्यादा उपयोग किया जाता है। इसका स्वाद बहुत बढ़िया होता है।

4 भूरा आलू

यह आलू दिखने में थोड़ा भूरा सा लगता है। खाने में बहुत स्वादिष्ट होता है।यह छोटे से लेकर बड़े आकार में मिल जाता है। यह आलू ख़ासतौर पर सब्ज़ी बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। यह बहुत स्वादिष्ट होता है।

5. बेंगनी आलू

यह आलू का एक ख़ास प्रकार होता है जो बेगंनी रंग का दिखता है। यह ख़ासतौर पर ग्रिलिंग और रोस्टिंग व्यंजन बनाने के काम आता है।

आलू के उपयोग । USES OF POTATO IN HINDI

आलू के उपयोग के लिए आगे पढ़ते रहिए हम आपको बताते हैं कि आलू के उपयोग क्या है ?

• आलू की सब्ज़ी बनाकर सबसे ज़्यादा उपयोग किया जाता है।

• आलू के परांठे बनाकर बहुत उपयोग किया जाता है।

• कच्चे आलू के चिप्स बनाकर उपयोग किया जाता है।

• कच्चे आलू स्नेक्स बनाकर बहुत उपयोग किया जाता है।

• आलू को उबालकर रोगियों को खिलाया जाता है।

• आलू को वेज के साथ नानवेज व्यंजन में बहुत उपयोग किया जाता है।

• आलू के रस को झुलसती हुई त्वचा पर इस्तेमाल किया जाता है।

• आलू को सौन्दर्य प्रसाधनों में उपयोग किया जाता है।

आलू के फायदे। POTATO BENEFITS IN HINDI

आलू तो हम खूब उपयोग करते हैं पर Aalu ke fayde क्या हैं हम नहीं जानते आइए हम आपको बताते हैं आलू के फायदे।

1. उच्च रक्तचाप

उच्च रक्तचाप के रोगियों को अगर नियमित आलू का सेवन कराया जाये तो उच्च रक्तचाप नियंत्रित किया जा सकता है।

इसके लिए आलू को थोड़े पानी में नमक डालकर उबाला जाए और इसको रोगी को खिलाया जाये इससे BP नियंत्रित रहेगा। आलू को छिलके सहित उबालना चाहिए।

आलू में मैग्नीशियम होता है जो हमारे शरीर के BP को नियंत्रित करने में मदद करता है।

2. एसीडिटी

राख़ को अच्छी तरह गर्म करके इसमे आलू को भुना जाए फिर इसको गेहूं की रोटी के साथ उपयोग किया जाए।

भुना हुआ आलू रोटी के साथ बहुत जल्दी पच जाता है और पेट के हाजमा सही कर देता है पुराना कब्ज़ और आंतों की सड़न दूर कर देता है।

आलू में पोटेशियम होता है जो अम्लपित्त को रोकने का काम करता है। इसलिए अमलता रोगियों के लिए आलू अच्छा उपचार है।

3. गुर्दे की पथरी

गुर्दे में अगर पथरी हो तो केवल आलू का नियमित सेवन करने से पथरी में जबरदस्त लाभ होता है।

पथरी के रोगी को आलू की सब्जी या उबला हुआ आलू खिलाते रहना चाहिए इससे बहुत जल्दी पथरी शरीर से बाहर निकल जाती है।

आलू में पाया जाने वाला मैग्नीशियम शरीर में पथरी को बनने से रोकता है और बनी हुई पथरी को शरीर से बाहर निकाल देता है।

4. गठिया रोग में आराम

आलू खानें के फायदे गठिया रोग को दूर करने मे बहुत मददगार होते हैं।

इसके तीन आलुओं को सेंक लीजिए फिर इनके छिलके उतार कर थोड़ा नमक और मिर्च मिलाकर रोज़ाना रोगी को खिलाएं।

इसको एक महीने नियमित खिलाए गठिया के रोग में आराम मिलेगा।

5. सूजन दूर करे

कच्चे आलू को काटकर छोटे छोटे टुकड़े कर लीजिए फिर इन टुकड़ों को पानी में डालकर उबालें।

जब आलू अचछी तरह उबल जाएं और पानी आधा हो जाए तो इस पानी से सूजन पर लगाए और उनको इस पानी से धोएं।

इससे धीरे-धीरे चोट लगी सूजन उतर जाती है और दर्द भी दूर हो जाता है।

6. हदय जलन में आराम

हदय में जलन आगर होती हो तो इसके लिए आलू या आलू का रस फायदेमंद होता है।

हददाह में आलू का रस निकाल कर पीने से आराम मिलता है। अगर रस निकलने में समय लग रहा हो तो कच्चा आलू चबाकर खाएं और उसका पीए।

आलू का रस पीने से बहुत जल्दी हदय में होने वाली जलन दूर होती है और आराम मिलता है।

7. जले हुए पर आराम

आग से शरीर का कोई भाग जल जाए तो उस जगा पर कच्चा आलू पीसकर लगाने से बहुत जल्दी फायदा होता है।

गर्मी के मौसम में तेज़ धूप से त्वचा अगर जल गई हो तो जली हुई त्वचा पर कच्चे आलू का रस निकाल कर लगाएं।

कच्चे आलू के रस को त्वचा पर लगाने से जली हुई त्वचा में आराम मिलता है और त्वचा में निखार आता है।

8. मोटापा नियंत्रित करे

अकसर लोगों की समझते हैं की आलू खानें से शरीर का वज़न बढ़ता है पर यह बात सही नहीं है बल्कि सच तो यह है कि आलू से वज़न नही बढ़ता।

आलू को तेल , घी या किसी चिकनाई वाली चीज़ के सांथ खानें से जो चिकनाई शरीर में जाती है वह शरीर का वज़न बढ़ाती है।

आलू को सादा , कच्चा , उबालकर या भून कर खाना फायदेमंद होता है इससे कभी वज़न नहीं बढ़ता।

9. खुजली में आराम

किसी चीज़ के खाने से या धूप गर्मी या किसी कारण शरीर में खुजली हो तो आलू इसका बहुत अच्छा उपचार है।

कच्चे आलू का रस निकाल कर खुजली की जगह लगायें या एक कप का १/४ भाग आलू का रस और इतना ही पानी मिलाकर सुबह-शाम रोगी को पिलाने से फ़ायदा होता है।

खुजली की जगा पर कच्चे आलू की चटनी बनाकर लगानें से भी खुजली में फायदा होता है।

10. बच्चों का आहार

आलू का रस निकाल कर दूध पीते बच्चों और बड़े बच्चों को पिलानें से बच्चे Healthy होते हैं और रोगों से दूर रहते हैं।

आलू के रस में स्वाद बढ़ाने के लिए थोड़ी सी शक्कर मिलाकर बच्चों को पिला सकते हैं यह बच्चों का बहुत अच्छा पौष्टिक आहार है।

11. बेरी-बेरी रोग में आराम

बेरी – बेरी रोग में आदमी चल नहीं सकता इसमें नाड़ियों में कमज़ोरी के लक्षण होते हैं। इसके लिए आलू खाना या रस पीना फायदेमंद होता है।

आलू को पीसकर इसका रस निकाल कर एक चम्मच दिन में चार बार रोगी को पिलाएं इससे बेरी – बेरी रोग में लाभ मिलता है।

अगर रस निकाल न सकें तो कच्चा आलू चबाकर खाएं और उसके रस को पिएं इससे लाभ होगा।

12. आंखों के रोग में आराम

Benefits of a potato in hindi के उपयोग से आंखों के रोगों से बचाव किया जा सकता है।

इसके लिए कच्चे आलू को घिसकर सुबह-शाम काजल की तरह नियमित लगानें से पुराना जाला और पुराना फूला हुआ दो से तीन माह में अच्छा हो जाता है।

13. झुर्रियां दूर करें

सर्दियों में या उम्र के बढ़ने से त्वचा पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं इससे छुटकारा पानें के लिए आलू का उपयोग करना लाभदायक है।

कच्चे आलू को पीसकर झुर्रियों पर लगाएं और हल्के हाथों से मलें इससे झुर्रियां ठीक हो जाती हैं।

आलू को उबालकर इसको छीलकर छिलकों को चेहरे पर रगड़ने से चेहरे के मुंहासे दूर होते हैं।

14. प्रोटीन का सोर्स है

प्रोटीन हमारी सेहत के लिए बहुत आवश्यक और फायदेमंद होता है और सूखे आलू में चावल से ज़्यादा 8.5 % प्रोटीन पाया जाता है।

आलू में मुर्गी के चूजों जैसा प्रोटीन होता है। बड़ी उम्र के लोगों के लिए प्रोटीन बहुत आवश्यक होता है। यह बुढ़ापे की कमजोरी को दूर करके शक्ति प्रदान करता है।

हमें आलू को अपने खानें में जरूर शामिल करना चाहिए।

15. विटामिन ‘सी’ का सोर्स है

आलू में विटामिन ‘सी’ की अच्छी मात्रा पाई जाती है इसको दूध में मिलाकर भी पिया जा सकता है।

आलू को छिलके सहित भूनकर खाना सबसे ज़्यादा गुणकारी होता है। छिलके सहित उबालकर भी खाना फायदेमंद होता है।

उबले हुए आलू का पानी उपयोग करना चाहिए इसमें मिनरल्स और विटामिन अधिक पाया जाता है।

आलू के नुक़सान । SIDE EFFECTS OF POTATO IN HINDI

आलू खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है पर बहुत अधिक सेवन से किसी को नुकसान भी हो सकता है आइए जानते हैं कि आलू के नुकसान क्या है ?

• शुगर के रोगियों को आलू कम खाना चाहिए क्योंकि यह शुगर को बढ़ा सकती है।

• आलू के ज़्यादा सेवन करने से पेट में गैस की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

• किसी किसी को आलू ज़्यादा खाने से एलर्जी होती है इसलिए सावधानी रखना चाहिए।

• आलू को तेल , घी या चिकनाई वाली चीजों के साथ खाने से वज़न बढ़ता है।

• सडे और गले आलू खाने से बचना चाहिए इससे शरीर में ज़हर फैलने का खतरा होता है।

• आलू में पौटेशियम होता है इसलिये इसका अधिक सेवन करने से उल्टी या सांस में तकलीफ़ की समस्या हो सकती है।